भोपाल के मुश्ताक से हुई थी 3 करोड़ के नकली नोटों की डील, छोटे कस्बे और दुकानदार थे टारगेट पर

IBC24 [Edited By: Akanksha Gupta]

मध्यप्रदेश, 11 Oct 2018 02 53 PM GMT+5

भोपाल/राजगढ़। राजगढ़ पुलिस द्वारा सोमवार को पकड़ी गई नकली नोट बनाने की गैंग ने कई खुलासे किए हैं। गैंग के सदस्यों मे बताया है कि एक साल से नकली नोट बनाने का काम कर रहे थे। तीन करोड़ नकली नोट छापने का अार्डर उन्हें भोपाल के मुश्ताक नाम के व्यक्ति ने दिया था।

 

पुलिस ने सोमवार को राजगढ़ के भोजपुर बाजार से नकली नोटों के साथ दो लोगों को पकड़ा था। इसके बाद होशंगाबाद के बाबई में दो अन्य आरोपियों को नोट छापते और काटते हुए पकड़ा। इनके पास से 31 लाख 12 हजार रुपए के नकली नोट के साथ ही इन्हें बनाने के उपकरण मिले थे।  

 

गलतिया सुधारते थे: प्रारंभिक जांच में सामने आया कि यह आरोपी नकली नोट बनाकर इन्हें छोटे दुकानदार व कस्बे के बाजार में चलाते थे। अगर किसी ने नकली नोट की पहचान कर ली तो उसे बातों में उलझाकर दूसरा नोट थमा देते थे। इसी नकली नोट की पहचान के आधार पर अगली बार उस कमी को सुधारकर बाजार में नया नकली नोट खपाया जाता था। 

 

नोट में सुधार करने की शर्त पर मिला था आर्डर: पुलिस पूछताछ के दौरान सामने आया कि भोपाल के एक व्यक्ति से 3 करोड़ के नोट छपाई की डीलिंग हुई थी। इसके लिए शर्त थी कि नोट की क्वालिटी में सुधार किया जाए। इसी को लेकर आरोपी बाजार में धड़ल्ले से नोट सप्लाई करने में लग रहे थे, ताकि उनके द्वारा तैयार नोट की गलतियां ग्राहकों से पता चल सके। आरोपियों ने भोपाल के जिस व्यक्ति का नाम बताया वह मुश्ताक है, लेकिन वह कहां रहता है और क्या करता है। इस संबंध में ज्यादा जानकारी नहीं बताई गई। 

Web Title : Bhopal's Mushtaq was the deal of fake notes of 300 million, small towns and shopkeepers were on target

ibc-24