IBC-24

आयुष्‍मान की 'बधाई हो' के आगे अर्जुन की 'नमस्‍ते इंग्‍लैंड' में दम नहीं

 

Published on 19 Oct 2018 05:39 PM, Updated On 19 Oct 2018 12:09 PM

रायपुर। इस शुक्रवार बॉक्स ऑफिस पर दो फिल्में रिलीज हुई हैं, 'बधाई हो' और नमस्ते इंग्लैंड। बधाई हो के रूप में आयुष्‍मान खुराना एक बार फ‍िर लीक से हटकर कॉन्‍सेप्‍ट पर बनी फ‍िल्‍म लेकर सामने आए हैं। वहीं, 'नमस्‍ते इंग्‍लैंड' अक्षय कुमार और कटरीना कैफ की फ‍िल्‍म नमस्‍ते लंदन का सीक्‍वल है। जिसमें अर्जुन कपूर और परिणीति चोपड़ा मुख्य भूमिका में हैं।
पहले बात करते हैं फिल्म 'बधाई हो' की- जिसका ट्रेलर ही काफी यूनिक था और फिल्म देखने बाद वाकई आप इंप्रेस हो जाएंगे। एक तरफ मेगा बजट फिल्में आती हैं और धड़ाम से गिर जाती हैं,  तो दूसरी तरफ स्त्री के बाद अब डायरेक्टर अमित रविंद्रनाथ शर्मा की बधाई हो रिलीज हुई है, जिसे देखकर आप हंसी से लोट पोट हो जाएंगे।
कहानी : फिल्म की कहानी दिल्ली के कौशिश फैमिली की है। जहां नकुल यानी आयुष्मान खुराना अपने पापा (गजराज राव) मां (नीता गुप्ता) दादी (सुलेखा)  और छोटे भाई के साथ रहता है। नकुल नौकरी करता है और अपनी गर्लफ्रेंड (सान्या मल्होत्रा) के साथ शादी के सपने देख रहा है। वो शादी की बात करने ही वाला था कि उसकी मां की तबियत खराब हो जाती है और फिर घर में भूचाल आ जाता है।  जब नकुल के पापा बताते हैं कि उनके घर में एक नन्हा मुन्ना मेहमान आने वाला है, ये सुनकर नुकल के होश उड़ जाते हैं, बस यहीं से इनकी फैमिली में टेंशन शुरू हो जाती है। धीरे धीरे मोहल्ले में बात फेल जाती है और रिश्तेदारों के साथ साथ मोहल्लेवालों के तानों से उनका आमना सामना होता है, लेकिन नकुल के पापा बेहद कूल अंदाज में नजर आते हैं, उसे वो भगवान का प्रसाद समझते हैं और अपनी लाइफ जीते हुए बच्चे का इंतजार करते हैं। लेकिन नकुल इस बात से परेशान है तो वहीं दादी भी रोज रोज बहु को ताना मारते हुए परेशान करती है।  उधर नकुल की गर्लफ्रेंड से उसका ब्रेकअप हो जाता है, कहानी काफी मजेदार, कई पंचेस हैं। कभी आप हंसेंगे तो कभी सोचेंगे। आखिरकार कहानी आगे क्या होता उसका मजा तो आपको फिल्म देखने के बाद ही मिलेगा यकिन मानिए आप बोर नहीं होंगे और पैसा वसूल मूवी कहेंगे। 
एक्टिंग की बात की जाए तो आय़ुष्मान खुराना ने फिर साबित कर दिया की वो बेहतरीन अभिनेता हैं। सान्या मल्होत्रा की उनकी साथ केमेस्ट्री भी कमाल की है।  गजराज राव की तारीफ करनी चाहिए, वो बिना बोले ही आपको हंसा देंगे, उनका मीडिल क्लास फैमिली वाला अंदाज वाकई काबिल-ए-तारीफ है।बाकी कलाकारों ने भी शानदार एक्टिंग की है। आयुष्मान को अंधाधुन के लिए अभी बधाई हो बोल रहे थे और ये पूरी फिल्म बधाई हो लेकर आ गए। वो भी शानदार कहानी, बेहतरीन एक्टिंग और जबरदस्त डायलॉग्स के हमारी तरफ से बधाई हो 
बधाई हो :  4/5 स्टार 

अब आत करते हैं नमस्ते इंग्लैंड की- फिल्म की कहानी पंजाब के छोटे से गांव की है। जहां जसमीत (परिणीति चोपड़ा) को परमीत(अर्जुन कपूर) से प्यार हो जाता है।  दोनों की पहली मुलाकात होती है और मुलाकात प्यार में बदल जाती है।  फिर गानें होते हैं और हो जाती है शादी।  लेकिन जसमीत का सपना है कि वो लंदन जाकर ज्वेलरी डिजाइनर बने। नौकरी करे, लेकिन उसकी रुढ़िवादी फैमिली इसके सख्त खिलाफ है वहीं परमीत भी आर्थिक तंगी के चलते उसका ये सपना पूरा नहीं कर पाता। अचानक जसमीत कॉन्ट्रेक्ट मैरिज करके लंदन चली जाती है,  यहां दर्शक भी हैरान रह जाते हैं कि ये कैसे हो गया। वहीं परमीत जसमीत के लिए अनलीगल तरीके से लदंन पहुंच जाता है। अब आगे कहानी आगे क्या होता ये आपको फिल्म देखने के बाद भी पता चलेगा।
फिल्म में अर्जुन और परिणीति की एक्टिंग कमाल की है, मगर फिल्म की कहानी देख  दर्शक अपना सिर पीट लेंगे। इंटरवल के बाद पता नहीं कहा है कहानी बंगलादेश पहुंच जाती है, फिर देशप्रेम में बदल जाती है, डायरेक्टर कन्फूज़ नजर आता है कि वो दिखाना क्या चाहता है। फिल्म आपको इतना बोर करेगी कि आप कह उठेंगे कि विपुल शाह आखिर तूने ये फिल्म क्यों बनाई। फिल्म की कहानी दर्शकों से कनेक्ट नहीं होती, अगर आप अर्जुन और परिणीति के फैन हैं तो आप नमस्ते इंग्लैंड देख सकते हैं।  

नमस्ते इंग्लैंड : 1.5/5 स्टार

वेब डेस्क, IBC24

Web Title : Film Review :

ibc-24